गरीब आदमी कि दर्द

गरीब आदमी कि दर्द

वृद्धाश्रमों में किस की “मां” चारों तरफ “जय माता दी-जय माता दी” छाई हुई है… फिर ये वृद्धाश्रमों में किस की “मां” आई हुई है …? फुटपाथ पर सो जाता कोई चादर समझ के खींच ना ले फिर से ‘ इसलिए मैं कफ़न ओढ़ कर फुटपाथ पर सो जाता हूँ …!!! जग जाता है रातों में ज़रा सी आहट से….वो जग जाता है रातों में.. .खुदा बेटी दे गरीब को . तो  दरवाज़ा भी दे.,., भूख से मरने वालों की भूख से मरने वालों की पोस्ट मॉर्टम रिपोर्ट बड़ी अजीब…

Read More

गरीब हू साहब Hindi best poem

गरीब हू साहब Hindi best poem

गरीब हू साहब Hindi best poem गरीब हू साहब , बेईमान नहीं ,, अन्न के लिए भटकता हू , आवारा नहीं …… मैं भी बच्चा हू साहब , दूसरे बच्चों कि तरह ,, मगर मेरा बचपना , उनके बचपना कि तरह नहीं ….. गरीब हू साहब , बेईमान नहीं ,, जिसने आपको राहत व् सुकून दिया , उसी ने हमें आँसू व् तकलीफ दिया ….. जिसने आपको खुद के महलों का सैर कराया , उसी ने हमें लोगो के घर-घर का सैर कराया …..  मगर हम दोनों का आत्मा है…

Read More