तुम और भी खूबसूरत दिखते हो

तुम और भी खूबसूरत दिखते हो

मेरी ये चंद शायरीया पढ़ लो तुम कागजों पर….. और भी खूबसूरत दिखते हो , “ये मेरी मन” यकींन नहीं तो……… मेरी ये चंद शायरीया पढ़ लो॥ जब भी मैं तुझसे कनेक्ट होता जब भी मैं तुझसे कनेक्ट होता हूँ— ‘मेरी मन’ तब मैं पूरा चार्ज हो जाता हूँ ….।।। शायर कभी झूठ नहीं बोलते सुनो , I love You ..… सुनी ही होगी तुमने….? कि शायर कभी झूठ नहीं बोलते….. ना समझ पाया खुद को एक मैं हूँ कि , ना समझ पाया खुद को आज तक … एक…

Read More

उसकी हरकतें बिलकुल छोटे बच्चों की तरह

उसकी हरकतें बिलकुल छोटे बच्चों की तरह

कभी मुझसे रुठ जाती उसकी हरकतें बिलकुल छोटे बच्चों की तरह ही है , कभी मुझसे रुठ जाती हैं , तो कभी खुद रुठ जाती हैं। प्यार का पैगाम लिखा कान्हा को राधा ने प्यार का पैगाम लिखा पूरे खत में सिर्फ कान्हा-कान्हा नाम लिखा . .. उसे भी किसी से मोहब्बत होगी इस रास्ते से कोई बचकर नहीं निकला है , ये मेरे दिल —— रब ने चाहा तो उसे भी किसी से मोहब्बत होगी। रात में तेरा नाम सोने ही नहीं देते मुझे तो दिन में काम और…

Read More

मैंने उसे इतना प्यार किया

मैंने उसे इतना प्यार किया

प्यार करना कोई तुझसे सीखें मैंने उसे इतना प्यार किया , कि खुद प्यार भी रोने लगा ,और कहता है , प्यार करना कोई तुझसे सीखें।।। कम से कम उसकी यादों को ऐ खुदा तू अगर मुझे मौत नहीं दे सकता तो , कम से कम उसकी यादों को तो मौत दे दे । ।। तु तो हरवक्त उसे ही याद किया वक्त ने खुद मेरे साथ बैठकर अपना वक्त गुजारा , और बोला तु तो हरवक्त उसे ही याद किया , जो तझे कभी अपना वक्त ही न दिया।…

Read More

दिल को सकुन मिलता है

दिल को सकुन मिलता है

आज भी उस पगली के लिये पागल है दिल को सकुन मिलता है जब कोई दोस्त कहता है…!! ये तो आज भी उस पगली के लिये पागल है….!!! दो वक़्त पर उसका साथ सिर्फ दो ही वक़्त पर उसका साथ चाहिए, एक तो अभी और एक हमेशा के लिये..!! नन्हीं सी परिभाषा है जीवनसाथी की कितनी नन्हीं सी परिभाषा है जीवनसाथी की ? मैं शब्द , तुम अर्थ तुम बिन , मैं व्यर्थ वो कौन सा दिन था वो कौन सा दिन था जब तुम मिले थे … मौसम खुशनुमा…

Read More

घूमने गए थे मोहब्बत की गली में

घूमने गए थे मोहब्बत की गली में

मोहब्बत की गली में घूमने गए थे मोहब्बत की गली में , लौटकर देखा तो सीने में दिल नहीं था।।। मुझसे मिलने आये हो आप मुझसे मिलने आये हो …. ….. बैठो….. मै खुद को बुलाकर लाता हूँ……. कोई ऐसी सुबह मिले मुझे हे खुदा, काश कोई ऐसी सुबह मिले मुझे , की मेरी आँख खुले तेरी मधुर आवाज से…. आ जाते हैं वो भी रोज आ जाते हैं वो भी रोज ख्वाबों में , जो कहते थे , हम तो कहीं जाते ही नहीं है । बड़े चुप चाप…

Read More

तुम अपने “दिल” में रहने दो मुझे

तुम अपने “दिल” में रहने दो मुझे

कसम से बाहर बहुत “गर्मी ”  तुम अपने “दिल” में रहने दो ना मुझे , कसम से बाहर बहुत “गर्मी ”  है … मैं मर जाउगा ।।। थाम लुँ तेरा हाथ थाम लुँ तेरा हाथ और तुझे इस  दुनिया से  दुर ले जाऊ… जहाँ तुझे देखने वाला मेरे सिवा कोई और ना हो …… सच्चा प्यार चाहे दो पल के लिए ​एक सच्चा प्यार चाहे दो पल के लिए ही क़्यों ना हो……. मगर पूरी जिन्दगी भर के लिए एहसास दे जाता है……. तुझसे बोल नहीं सकता मैं तुझसे बोल…

Read More

उदास मौसम को भी हसीन बना देगी

udas mausam ko hasin bana | Love Romantic Sad bewafa Shayari in Hindi

जब घर से बेनकाब निकलती वो उदास मौसम को भी हसीन बना देगी , जब घर से बेनकाब निकलती होगी।।।। उसके बिखरे हुए बाल जब उसके बिखरे हुए बाल उसके मासूम चेहरे पर आ जाती हैं , कसम से यारों वह और भी प्यारी लगने लगती हैं। बनी हूं ​”दीवानी”​तो सिर्फ़ तेरे लिये सुनो , मैंने लिखी है ये “शायरी”सिर्फ़ तेरे लिये,, मैं बनी हूं ​”दीवानी”​तो सिर्फ़ तेरे लिये,, किसी को नही ​”देखेंगी ​अब ये मेरी दो आँखे,, नज़रे ​”तरसेंगी”​भी तो सिर्फ़ तेरे लिये,, हर ​”साँस”​में याद करेंगे हम तुझको,…

Read More

जहाँ जहाँ खूबसूरती चलती हैं

jaha jaha khubsurati chalati

देखने वाले दो आखे भी चलती जहाँ जहाँ खूबसूरती चलती हैं , वहाँ वहाँ उसके साथ देखने वाले दो आखे भी चलती हैं। खुद से मौहब्बत हो जाएगी इतनी तारिफ ना करो मेरी…. मुझे खुद से मौहब्बत हो जाएगी… ……तो तुम्हारा क्या होगा…!!!! महबूब तो सभी की बेमिसाल होती नज़र नज़र का फर्क होता है जनाब , हुस्न का नहीं ,, महबूब जिसका भी हो सभी की बेमिसाल होती है..।।। हम दोनों की ही चाहत प्यार तो सिर्फ प्यार है क्या पुरा क्या आधा… हम दोनों की ही चाहत बेमिसाल…

Read More

चुपचाप गुज़ार देगें तेरे बिना ये ज़िन्दगी

चुपचाप गुज़ार देगें तेरे बिना ये ज़िन्दगी

तेरे बिना भी ये ज़िन्दगी चुपचाप गुज़ार देगें तेरे बिना भी ये ज़िन्दगी , लोगो को बता देगें , मोहब्बत ऐसे भी होती है ।।।। फिज़ाओ में घोल दी इतनी मोहब्बत तुम ही बताओ हम किधर जाए— इन फिज़ाओ में घोल दी इतनी मोहब्बत ,, कहो पी के मर जाए— !!!! जितना रुठना हैं पगली उतना रुठ लो जितना रुठना हैं पगली उतना रुठ लो , जिस दिन हम रुठ गए तो तू जीना ही भूल जाएंगी। तुम उसके बिना अधूरे हो ये मौसम ये फिजाए सभी चिल्ला चिल्ला कर…

Read More

बिना मिले हुए कईक दिन गुजर जाते

बिना मिले हुए कईक दिन गुजर जाते

उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता मुझे उनसे बिना मिले हुए कईक दिन गुजर जाते हैं , मगर उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता , शायद उन्हें यह लगता कि मैं खुश हूँ । और वक्त गुजर जाएगा एक वक्त ऐसा भी आएगा ,, मैं उसे याद करूँगा , वह मुझे याद करेगी ,, न मैं उसे मिलुगाा न वो मुझे मिलेगी । और वक्त गुजर जाएगा….. हम अकेले ही रहते हजारों महफिलें लगते हैं , हजारों मेले लगते हैं , पर जहाँ तुम नहीं , वहाँ हम अकेले ही अकेले रहते…

Read More