ज़िक्र तुम्हारा ही चल रहा था

zikra tumhara hi chal raha | Love Romantic Sad bewafa Shayari in Hindi

यूँ ही नहीं मुस्कुराए हम ज़िक्र तुम्हारा ही चल रहा था मन … यूँ ही नहीं मुस्कुराए हम… दिल में ही रहो दिल में ही रहो मन … बाहर गर्मी बहुत ज्यादा है। तुम सा हसीन इस जमाने मे नहीं तुम सा हसीन इस जमाने मे कुछ नहीं होगा ! बिना मिले ही ये हाल हैं…मिलोगे तो न जाने क्या हाल होगा … चुपचाप खामोश हो गया नसीब ने पूछा…बोल क्या चाहिए तूझे , मैंने तुम्हे क्या मांग ली , चुपचाप खामोश हो गया ..!! गजब है मुहब्बत बड़ा गजब…

Read More

इश्क़ एक खूबसूरत एहसास है

इश्क़ एक खूबसूरत एहसास है

इस एहसास को समेटना चाहता इश्क़ एक खूबसूरत एहसास है “मन” , और मैं इस एहसास को समेटना चाहता हूँ। ऐ “मन” तू क्यों रोता ऐ “मन” तू क्यों रोता है … ये दुनिया है , यहाँ तो हरपल ऐसा ही होता है… वो बातें करना चाहते मेरी आँखो ने पकड़ा है, उन्हे कई दफा रंगे हाथ , वो मुझसे बातें करना तो चाहते है , मगर घबराते बहुत है … दिल के ज्ख्मो पर दिल के ज्ख्मो पर किसी की नज़र नहीं !!! हम मर चुके हैं तुझ पर,…

Read More

एक माँ कभी नहीं कहती

एक माँ कभी नहीं कहती

बेटा मुझे खुश रखना एक माँ कभी नहीं कहती “बेटा मुझे खुश रखना” । वो तो सिर्फ यह कहती हैं “बेटा तू जहाँ भी रहना खुश रहना” !!! माँ बाप को अपने पास रखा किसी ने व्रत रखा और किसी ने उपवास रखा, हमने वो पुण्य नहीं कमाये, बस माँ बाप को अपने पास रखा… दुनिया की ख़ुशी को शर्त लगी थी दुनिया की ख़ुशी को एक लफ्ज में लिखने के लिए ! वो किताब ढूंढने लगे मेने माँ लिख दिया ! हर मोहब्बत की माँ ये जो माँ की…

Read More

मेरी मां तो आज तक

मेरी मां तो आज तक

रोटी एक मागता हूँ दो दे देती मेरी मां तो आज तक अनपढ़ हैं । खाते समय रोटी एक मागता हूँ तो दो लाकर दे देती हैं। सन्नाटा छा गया सन्नाटा छा गया बटवारे के किस्से में । जब बुढि मां ने पूछा मैं हूँ किसके हिस्से में । माँ-बाप पर क्या बीतता जब नोटों का रंग बदला तो कई लोगों की जान निकल गई। जरा सोचो जब औलाद अपना रंग बदलता है, तो माँ-बाप पर क्या बीतता हैं  !!! हक “मेरी माँ” को होता मेरे किस्मत में तनिक सा…

Read More

दिल में माँ-बाप के

दिल में माँ-बाप के

जब बच्चे कहते हैं दिल में माँ-बाप के हजारों सुईया चुभ जाती हैं। जब बच्चे कहते हैं , तुमने आज  तक मेरे लिए किया ही क्या है  !!! माँ नहीं रहती तो घर खाली सा लगता घल में चाहे कितने भी लोग क्यों न हो  । मगर माँ नहीं रहती तो घर खाली खाली सा लगता हैं  !!! वसीयत के कागजात माँ- बाप  के दवाई की पर्ची खो जाती हैं । मगर वसीयत के कागजात बहुत ही सम्भाल कर रखी जाती हैं। कौन कहता है कि कौन कहता है कि…

Read More

गरीब आदमी कि दर्द

गरीब आदमी कि दर्द

वृद्धाश्रमों में किस की “मां” चारों तरफ “जय माता दी-जय माता दी” छाई हुई है… फिर ये वृद्धाश्रमों में किस की “मां” आई हुई है …? फुटपाथ पर सो जाता कोई चादर समझ के खींच ना ले फिर से ‘ इसलिए मैं कफ़न ओढ़ कर फुटपाथ पर सो जाता हूँ …!!! जग जाता है रातों में ज़रा सी आहट से….वो जग जाता है रातों में.. .खुदा बेटी दे गरीब को . तो  दरवाज़ा भी दे.,., भूख से मरने वालों की भूख से मरने वालों की पोस्ट मॉर्टम रिपोर्ट बड़ी अजीब…

Read More

हे राधा पुकार लो हमारा नाम

हे राधा पुकार लो हमारा नाम

कोई आवाज नहीं की हे राधा पुकार लो नाम हमारा.. _कब से हम तुम्हारे है.. कोई आवाज नहीं की.. चुपके से तुमपे दिल हारे है….!!! हे राधा बहुत ढूंढा है तुम्हें हे राधा बहुत ढूंढा है तुम्हें ख़्वाबों ख़्यालों में. पर जानते हो तुम कहां मिले जिन्दगी के हर लम्हें में …. सारी दुनिया का हिसाब वो न कागज रखता है न किताब रखता हैं फिर भी वह सारी दुनिया का हिसाब रखता है … सभी को भगवान याद आने लगे सभी खोए थे अपनी अपनी जिन्दगी सवारने में ,…

Read More

Unse bat karne me achha lagta

Unse bat karne me achha lagta

kuch sochna Ni padhta Unse bat karne me bahut acha lagta hai….. jinse bat karne ke lie kuch sochna Ni padhta hai….. सुनना सीख लो ये दोस्त सुनना सीख लो ये दोस्त , इस सन्सार में बोलने वाले व्यक्ति बहुत मिलेंगे, मगर किसी की बात सुनने वाला नहीं ।।। Ajab hai ye duniya Ajab hai ye duniya… Logo se khukar bat Karo tab v problem … Logo se soch soch kar baate karo tab v problem … सभी व्यक्तिय को रोज सभी व्यक्तिय को रोज 1440 मिनट मिलता हैं, अब…

Read More

हम तो खुशियाँ उधार देने का कारोबार

हम तो खुशियाँ उधार देने का कारोबार

कोई वक़्त पे लौटाता नहीं हम तो खुशियाँ उधार देने का कारोबार करते हैं , साहब कोई वक़्त पे लौटाता नहीं है इसलिए घाटे में हैं…. कितने भी महंगे जूते पहन लो आज कितने भी महंगे जूते पहन लो, लेकिन वैसी फीलिंग नहीं आती, जैसी बचपन में “पुचु-पुचु” वाले जूते पहन कर आती थी.. मेरे पास एक ही चेहरा मेरे पास एक ही चेहरा है , शायद इसलिए लोगों को पसंद नही आता मैं !! नज़रों से गिरने का पतझड़ में सिर्फ पत्ते गिरते हैं ” नज़रों ” से गिरने…

Read More

हटा लो अपनी जुल्फों को मासूम चेहरे से

हटा लो अपनी जुल्फों को मासूम चेहरे से

चाँद ज्यादा हसीन लगता हटा लो अपनी जुल्फों को मासूम चेहरे पर से “ये मेरी मन” … चाँद खुले आसमान में ही ज्यादा हसीन लगता है …।।। इंतजार में घंटो खड़ा सुंदरता की प्रतियोगिता पूरे शबाब पे है … आज एक चाँद दूसरे चाँद के इंतजार में घंटो खड़ा जो है । ज़िद उसकी चाँद देखने की ज़िद उसकी थी,जल्दी से चाँद देखने की ,, मैंने झट से उसके सामने आईना रख दिया …. हँसते हुए बोल रही थी वो बार बार हँसते हुए बोल रही थी , तुम चले…

Read More