कल रात चाँद बिल्कुल आप जैसा था

कल रात चाँद बिल्कुल आप जैसा था

चाँद बिल्कुल आप जैसा कल रात चाँद बिल्कुल आप जैसा था , वो ही खूबसूरती वो ही नूर वो ही गुरुर , और वैसे ही आप की तरह दूर!!! ये बारिश तुझे क्या हुआ ये बारिश तुझे क्या हुआ है , जब भी वो घर से बाहर निकलती है , तू भी उसके स्वागत में बरसने लगता हैं , कहीं तू भी मेरी तरह उनका दिवाना तो नहीं हैं।।। वह इतनी प्यारी हैं वह इतनी प्यारी हैं कि भगवान भी उसे देखकर सोचता है , सच में हमें खुद पर…

Read More

कुछ भी खास नहीं होता इन दिनों

कुछ भी खास नहीं होता इन दिनों

वो पास नही है इन दिनों अब कुछ भी खास नहीं होता इन दिनों ..!! वो जो पास नही है इन दिनों….! आँसू बहाऊँ,पाँव पटकूँ कितना अच्छा होता , बचपन के खिलौने सा कहीं छुपा लूँ तुम्हे , आँसू बहाऊँ,पाँव पटकूँ और पा लूँ तुम्हें । मुझसे मोहब्बत कर लो चल रहे हैं जमाने में रिश्वत के सिलसिले … तुम भी कुछ ले दे कर , मुझसे मोहब्बत कर लो…. दिल दर्द सहता हैं तड़प उसी के जिस्मो पर सजता है ‘मन’ जिसकी आँखों में इश्क़ रोता हैं !! और…

Read More

मोहोब्बत बिखेर दूँगा अपने लफ़्ज़ों से

मोहोब्बत बिखेर दूँगा अपने लफ़्ज़ों से

इतनी मोहोब्बत कोई कैसे कर सकता “इतनी मोहोब्बत बिखेर दूँगा अपने लफ़्ज़ों से , की एक ना एक दिन तू भी कहेगी , की इतनी मोहोब्बत कोई कैसे कर सकता है.”। तेरा नाम लेकर शहर में तेरा नाम लेकर शहर में ढुंढता हुँ , कोई बताता नहीं ,, मेरा हाल बताकर शहर में पुछो , लोग घर बता देगें … दिल लग जाने से बेहतर दिल लग जाने से बेहतर था… आँख लग जाती.. हमेशा के लिए…! तुम जायदाद हो मेरी तुम जायदाद हो मेरी , इस जिंदग़ी की ,,…

Read More

बस आखरी बार इस तरह मिल जाना

बस आखरी बार इस तरह मिल जाना

इस तरह मिल जाना बस आखरी बार इस तरह मिल जाना , मुझ को रख लेना या मुझ में ही रह जाना … मोहब्बत एक कटी पतंग है मोहब्बत एक कटी पतंग है जनाब .., गिरती वही है , जिसकी छत बड़ी होती है…!! ये ठंडी हवा का आलम उफ़ ये गजब की रात और ये ठंडी हवा का आलम , हम भी खूब सोते अगर उनकी  बांहो में होते… मेरे नाम पर कीचड़ उछाला ये मेरा फ़र्ज़ बनता है , मैं उसके हाथ धुलवाऊँ … सुना है उसने ,…

Read More

डरता हूँ तुम्हारे बेपनाह प्यार से

डरता हूँ तुम्हारे बेपनाह प्यार से

तुम्हारे बे‘पनाह प्यार से डरता हूँ तुम्हारे बेपनाह प्यार से … क़तरा भर भी कम हुआ तो , बर्दाश्त नहीं होगा … दिल से खेलना लोगो का पसंदीदा खेल दुनिया में कई तरह के खेल खेले जाते हैं , मगर भावनाओं और दिल से खेलना लोगो का सबसे पसंदीदा खेल हैं। साथ तो तुमने तोडा था हाथ मैने छोड़ा था । मगर साथ याद है न ,, साथ तो तुमने तोडा था । लोग महसूस कर लेंगे जज्बात मेरे लिख रहा हूं आज फिर लोग पढ़ेंगे । कुछ लोग महसूस…

Read More

मुस्कुरा जाता हूँ अक्सर गुस्से में भी

मुस्कुरा जाता हूँ अक्सर गुस्से में भी

तेरे नाम से इतनी मोहब्बत मुस्कुरा जाता हूँ अक्सर गुस्से में भी तेरा नाम सुन  कर , तेरे नाम से इतनी मोहब्बत  है तो सोच तुझसे  कितनी होगी… मैं भी क्या कमाल करता मैं भी क्या कमाल करता हूँ… “एक शाम लिखता हूँ कि भुला दिया तुझे ,, फिर सारी रात तुझे ही याद करता हूँ…। किसी की यादों मैं ही खो जाता मानता हूँ कि मैं शायर तो हूँ , मगर…. क्या करु जब भी लिखने की कोशिश करता हूं , किसी की यादों मैं ही खो जाता हूं…

Read More

कल मुझे खुशी मिली थी

कल मुझे खुशी मिली थी

वह रुकी नहीं कल मुझे खुशी मिली थी । जल्दी जल्दी में थी , वह रुकी नहीं । किसी के दिल में दुनिया में रहने के लिए , एक ही सबसे अच्छी जगह है , कि किसी के दिल में रहो । मैं शून्य हूँ मैं शून्य हूँ , मुझे पीछे ही रखना मेरा फर्ज़ है सिर्फ़ तेरी किंमत बढ़ाना है तुम्हारा ज़रा सा होना भी सुनो “मन” तुम  हो धूप की तरह और मैं  हूं दिसम्बर का दिन , तुम्हारा  ज़रा सा होना भी मुझे बहुत  सुकूँ  देता है…

Read More

होठ उसके चेहरे पर कुछ यूं नजर आते

होठ उसके चेहरे पर कुछ यूं नजर आते

होठ उसके चेहरे पर होठ उसके चेहरे पर कुछ यूं नजर आते है। दूध में रखी हो जैसे दो पत्तियां गुलाब की।। मैं हजारों में तन्हा मेरा और चान्द के बीच का रिश्ता , करीब करीब मिलता जुलता है। चान्द तारों में तन्हा और मैं हजारों में तन्हा । ये जो इतने सारे लोग ये जो इतने सारे लोगों का भीड़ हैं न “मेरे जनाजे” में , जीते- जी इन्हीं सब से मिलना था मुझे !!! अपने दिल पर भरोसा जब किसी के दिल में किसी खास के लिए इश्क…

Read More

कितना खुशनुमा होगा वो इँतज़ार

कितना खुशनुमा होगा वो इँतज़ार

मेरे इँतज़ार का मंजर कितना खुशनुमा होगा वो मेरे इँतज़ार का मंजर भी…, . जब ठुकराने वाले मुझे फिर से पाने के लिये आँसु बहायेंगे…!!! तुम्हारे दिल में कोई होगा तुम्हारी आँखों में कोई होगा.. तुम्हारी बातों में कोई होगा। तुम्हारे दिल में कोई होगा.. तुम्हारे दर्द में कोई होगा।.. पर हम तुम्हारे होंगे ..iii जब तुम्हारा कोई न होगा हमारी भी जिन्दगी खुशहाल थी हम भी जी सकते थे अगर…. मरते ना तुम पर ” हमारी भी जिन्दगी खुशहाल थी। सुन ए गुलशन सुन ए गुलशन..ज़रा समेट अपनी कलियों…

Read More

उसके हाथों पर अपना नाम देखा

उसके हाथों पर अपना नाम देखा

बड़े मासूमियत से बोली उसके हाथों पर अपना नाम देखा तो बड़ा खुश हुआ , फिर वो बड़े मासूमियत से बोली इस नाम का कोई और भी हैं। मोहब्बत मैं करता हूं तुमसे तुम्हारे सभी चाहने वाले मिलकर भी उतना नहीं चाह सकते हैं तुम्हें , जितनी मोहब्बत मैं अकेला करता हूं तुमसे। इश्क के बन्द कर दिए बन्द कर दिए हमने  दरवाजे  इश्क के , पर तेरी याद है कि दरारों में से भी आ जाती हैं। किसी से अधूरी मुलाकात शायरी समझते हो जिसे तुम सब , वो…

Read More