Tag: hindi romantic poem

ज़िक्र तुम्हारा ही चल रहा था

यूँ ही नहीं मुस्कुराए हम ज़िक्र तुम्हारा ही चल रहा था मन … यूँ ही नहीं मुस्कुराए हम… दिल में ही रहो दिल में ही रहो मन … बाहर गर्मी बहुत ज्यादा है। तुम सा हसीन इस जमाने मे नहीं तुम सा…Read More »

इश्क़ एक खूबसूरत एहसास है

इस एहसास को समेटना चाहता इश्क़ एक खूबसूरत एहसास है “मन” , और मैं इस एहसास को समेटना चाहता हूँ। ऐ “मन” तू क्यों रोता ऐ “मन” तू क्यों रोता है … ये दुनिया है , यहाँ तो हरपल ऐसा ही होता…Read More »

अपनी सोच को थोड़ा बदल कर देखो

मुझसे भी बुरे हैं लोग मेरे बारे में अपनी सोच को थोड़ा बदल कर देखो । मुझसे भी बुरे हैं लोग , कभी घर से बाहर निकल कर देखो !!! मैं बहुत अच्छा हूँ” “पहले मुझे लगता था कि मैं अच्छा हूँ…Read More »

मुझसे हर बार नज़रें चुरा लेती

देखा हैं आँखें उसकी मुझसे हर बार नज़रें चुरा लेती है वो !! मैंने कागज़ पर भी बना कर देखा हैं आँखें उसकी !!……!! ऐ चाँद चला जा क्यूँ आया ऐ चाँद चला जा क्यूँ आया है तू मेरी चौखट पर ,…Read More »

उस व्यक्ति की शक्ति का कोई मुकाबला नहीं

शक्ति के साथ सहनशक्ति उस व्यक्ति की शक्ति का कोई मुकाबला नहीं , जिसके पास शक्ति के साथ सहनशक्ति भी हो….. शीशा और पत्थर संग संग रहे शीशा और पत्थर संग संग रहे , तो बात नही घबराने की…..!! शर्त इतनी है…Read More »

जिन्दगी की अजीब दास्ताँ हैं

कुछ समझ में नहीं आता जिन्दगी की अजीब दास्ताँ हैं , यह क्या कहना चाहती हैं , कुछ समझ में नहीं आता कि मेरी उम्र 1 साल बढ़ गई या 1 साल घट गई !!! छोटा सा शब्द विश्वास छोटा सा शब्द…Read More »

तुम और भी खूबसूरत दिखते हो

मेरी ये चंद शायरीया पढ़ लो तुम कागजों पर….. और भी खूबसूरत दिखते हो , “ये मेरी मन” यकींन नहीं तो……… मेरी ये चंद शायरीया पढ़ लो॥ जब भी मैं तुझसे कनेक्ट होता जब भी मैं तुझसे कनेक्ट होता हूँ— ‘मेरी मन’…Read More »

दिल को सकुन मिलता है

आज भी उस पगली के लिये पागल है दिल को सकुन मिलता है जब कोई दोस्त कहता है…!! ये तो आज भी उस पगली के लिये पागल है….!!! दो वक़्त पर उसका साथ सिर्फ दो ही वक़्त पर उसका साथ चाहिए, एक…Read More »

उदास मौसम को भी हसीन बना देगी

जब घर से बेनकाब निकलती वो उदास मौसम को भी हसीन बना देगी , जब घर से बेनकाब निकलती होगी।।।। उसके बिखरे हुए बाल जब उसके बिखरे हुए बाल उसके मासूम चेहरे पर आ जाती हैं , कसम से यारों वह और…Read More »

चुपचाप गुज़ार देगें तेरे बिना ये ज़िन्दगी

तेरे बिना भी ये ज़िन्दगी चुपचाप गुज़ार देगें तेरे बिना भी ये ज़िन्दगी , लोगो को बता देगें , मोहब्बत ऐसे भी होती है ।।।। फिज़ाओ में घोल दी इतनी मोहब्बत तुम ही बताओ हम किधर जाए— इन फिज़ाओ में घोल दी…Read More »