कल मुझे खुशी मिली थी

कल मुझे खुशी मिली थी

वह रुकी नहीं कल मुझे खुशी मिली थी । जल्दी जल्दी में थी , वह रुकी नहीं । किसी के दिल में दुनिया में रहने के लिए , एक ही सबसे अच्छी जगह है , कि किसी के दिल में रहो । मैं शून्य हूँ मैं शून्य हूँ , मुझे पीछे ही रखना मेरा फर्ज़ है सिर्फ़ तेरी किंमत बढ़ाना है तुम्हारा ज़रा सा होना भी सुनो “मन” तुम  हो धूप की तरह और मैं  हूं दिसम्बर का दिन , तुम्हारा  ज़रा सा होना भी मुझे बहुत  सुकूँ  देता है…

Read More

मैंने अपने आखो को बहुत समझाया

मैंने अपने आखो को बहुत समझाया

जब भी उसको देखता हूँ मैंने अपने आखो को बहुत समझाया कि तू इतना बहता क्यों हैं , वह बोला क्या करु जब भी उसको देखता हूँ तब खुद ही निकल जाती हैं। मैंने एक शख्स को चुना 7 अरब लोग इस संसार में , उनमें से मैंने एक शख्स को चुना , और वह भी है मुझसे खफा ।। जितनी मोहब्बत मैं करता तुमसे तुम्हारे सभी चाहने वाले मिलकर भी उतना नहीं चाह सकते हैं तुम्हें , जितनी मोहब्बत मैं अकेला करता हूं तुमसे। बारिश भी नाराज हैं बारिश…

Read More

एक तस्वीर से मेरे चेहरे पर मुस्कान आ जाती

एक तस्वीर से मेरे चेहरे पर मुस्कान आ जाती

दिन बीत गया उसके इन्तजार में जिसके एक तस्वीर से मेरे चेहरे पर मुस्कान आ जाती थीं ,, आज रोते रोते पूरा दिन बीत गया उसके इन्तजार में ।।। मोहब्बत छोड़ दी हमने तो…………..मोहब्बत छोड़ दी लेकिन महोब्बत ने हमे कहीं का नही छोड़ा.. लाख कोशिशों के बाद भी तू मेरी ज़िंदगी की किताब का वो हसीन पन्ना है , जिसे मैं लाख कोशिशों के बाद भी पलट नही पाया..!!! वह मुझसे बातें करेगी पता नहीं वह दिन कौन सा दिन होगा , जिस दिन वह मुझसे बातें करेगी ।।।…

Read More

आज फिर मौसम उदास हैं

आज फिर मौसम उदास हैं

कहीं वो उदास आज फिर मौसम उदास हैं , कोई पता करना कहीं वो उदास तो नहीं हैं। उसकी एक झलक जितनी खुशी मुझे सुपरस्टार लोगों से मिल कर नहीं होती , उससे कहीं ज्यादा खुशी मुझे सिर्फ उसकी एक झलक पाने से होती हैं !!!! रात गुजारने दो ना सुनो न , घर की चाबी खो गयी हैं मुझसे… आज की रात गुजारने दो ना अपने दिल में…।।। तुम सा हमें कोई दिखा ही नहीं मिलने को तो दुनिया मे कई चेहरे मिले ,, मगर तुम सा हमें कोई…

Read More

उसने मुझसे दूर जाते वक्त यह बोल रही थी

उसने मुझसे दूर जाते वक्त यह बोल रही थी

मुझसे दूर जाते वक्त उसने मुझसे दूर जाते वक्त यह बोल रही थी , कि रोते तो सब हैं तब क्या हम सबके हो जाए। रात भर जागता हूँ रात भर जागता हूँ , एक एसे सख्श की खातिर , जिसको दिन के उजाले मे भी मेरी याद नही आती !!! फिर बेइन्तहा चाहने लगा मुझसे भूल से बहुत बड़ी भूल हुई हैं , तुम्हें चाहा और फिर बेइन्तहा चाहने लगा।।। वो मशहुर हो गई कैसे तारिफ करु , मैं अपने किरदार का , वो मशहुर हो गई , मुझे…

Read More

उसे कहेना के तेरी याद बहुत आती

उसे कहेना के तेरी याद बहुत आती

तेरी याद बहुत आती उसे कहेना के तेरी याद बहुत आती है……!! ये भी कहेना कोई ओर नहीं है मेरा…..!!!! मेरी तन्हाईयाँ फिर से लो, “शाम” हो गई.. मेरी तन्हाईयाँ फिर से तेरे नाम हो गई… मैं तो रोज़ ही सुनो मैं तो रोज़ ही “”रोज़े”” रख लूँ…!! मगर शर्त है तुम “”चाँद”” बन जाओ — ना जाने क्यूँ एहसास सा है हो दूर कितना भी , पर ना जाने क्यूँ एहसास सा है , तू मेरे पास , बहुत पास , बहुत पास सा है………… दीवाना हूँ उस का……

Read More

इस जगमगाते शहर में रोता हुआ इश्क

इस जगमगाते शहर में रोता हुआ इश्क

इस जगमगाते हुए शहर इस जगमगाते हुए शहर से हटकर मेरा एक अपना शहर है ”’अन्धेरो का शहर ” जहाँ सिर्फ मैं और एक तेरी यादे ही रहतीं हैं। हम मिलने को तरसते हैं खुश नसीब होते हैं बादल , जो दूर रहकर भी ज़मीन पर बरसते हैं , और एक बदनसीब हम हैं , जो एक ही दुनिया में रहकर भी.. मिलने को तरसते हैं. इश्क का नाम बता दिया आज खुदा ने भी मुझसे पूछा हि लिया , कि तेरा पहले जैसा हसता हुआ चेहरा उदास क्यों हैं…

Read More

आज फिर तेरी गलियों के चक्कर लगा आये

आज फिर तेरी गलियों के चक्कर लगा आये

तेरी एल झलक खातिर आज फिर तेरी गलियों के चक्कर लगा आये हम , आज फिर तेरी एक झलक खातिर पूरा दिन तेरी गलियों में बिता आये हम….. उसे मालूम चलेगा तब वह जब उसे मालूम चलेगा तब वह बहुत पछताएगि , कि मोती ठुकरा दिए पत्थर चुनते चुनते ।। बहुत अच्छे लगते हो तुम दूर रहते हो तब भी बहुत अच्छे लगते हो , अगर पास रहते तो पता न क्या होता।।। सबको भुला सकते है मगर बादल चाँद को छुपा_सकता है , आकाश को नही …. हम सबको…

Read More

लोग कहते हैं कि हम मुस्कुराते बहुत हैं

लोग कहते हैं कि हम मुस्कुराते बहुत हैं

हम थक गए हैं लोग कहते हैं कि हम मुस्कुराते बहुत हैं , और हम थक गए हैं अब दर्द छिपाते छिपाते । आँख खुलते ही ठीक से सुबह उठ जाने तो दिया करो ,, आँख खुलते ही याद आने लगते हो । अपने पेरों से छूकर अपने पेरों से छूकर…तूने सारा पानी…गुलाबी कर दिया , नदी की…सारी मछलियों को…तूने शराबी कर दिया …. मुलाकात तो होगी महोब्बत न सही पास के थाने में मुकदमा ही कर दो ! तारीख दर तारीख मुलाकात तो होगी !! महसूस कुछ ही लोगों…

Read More

वो मजे में सोती थी मुझे रुलाकर

शक है उन्हें

वो रोती है मेरी कबर पर आकर वो मजे में सोती थी मुझे रुलाकर , आज मैं चैन से सोया हूँ. , वो रोती है मेरी कबर पर आकर…. बेवज़ह बिछड तो गये बेवज़ह बिछड तो गये हो…. बस इतना बता दो… कि.. सुकून मिला या नहीं…?? बिलकुल ही बदल गया वादा था मुकर गया , नशा था उतर गया , दिल था भर गया , वह इन्सान था जो बिलकुल ही बदल गया। इतनी ही फिक्र है तो नींद चुराने वाली पूछती हैं सोते क्यू नही हो तुम ….!!!…

Read More