न कीजिए शरारत अपनी मदहोश नज़रों से

N kijie sharart apni nazaro se

मचल गया दिल

न किया कीजिए शरारत अपनी मदहोश नज़रों से …

मचल गया दिल… तो बड़ी मुश्किल हो जाएगी…!!!

मचल गया दिल

तुझे क्या पता तेरे इन्तजार में हमने

तुझे क्या पता तेरे इन्तजार में हमने कैसे वक्त गुजारा है

एक बार नहीं हजारों बार तेरी तस्वीर को निहारा है …

तुझे क्या पता तेरे इन्तजार में हमने

उसके हुस्ने-दीदार

दंग रह गया मैं उसके हुस्ने-दीदार के बाद …

सच अब बता सकता हूँ , खूबसूरती क्या चीज़ है …

उसके हुस्ने-दीदार

तकदीर में एक शब्द लिखने की इजाजत

काश , तकदीर में एक शब्द लिखने की इजाजत हमें हो जाए ,

बस लिखे हम तेरा नाम और तेरे हो जाए …

तकदीर में एक शब्द लिखने की इजाजत

महसूस खुद को तेरे बिना

महसूस खुद को तेरे बिना मैंने कभी किया नहीं ।

तू क्या जाने लम्हा कोई मेने कभी जिया नहीं …

महसूस खुद को तेरे बिना

सफर खत्म कर देंगे हम

सफर खत्म कर देंगे हम तो वहीं पर ,,

जहाँ तक… तुम्हारे कदम ले चलेंगे …

सफर खत्म कर देंगे हम

Leave a Comment