मीठा-मीठा सा था इश्क़ हमारा

mitha mitha sa ishq

आपके ख्वाब व आपकी मुस्कान

मीठा-मीठा सा था इश्क़ हमारा और..

बीच-बीच में आपके ख्वाब व आपकी मुस्कान आती रही …!!!

आपके ख्वाब व आपकी मुस्कान

तुम्हारे होठों की लिपीस्टीक

मैं तुम्हारे होठों की लिपीस्टीक खराब कर सकता हूँ ।

पर यकिन करो, तुम्हारे आखों का काजल कभी बहने नहीं दूंगा ।

तुम्हारे होठों की लिपीस्टीक

अपनी शामों में हिस्सा

अपनी शामों में हिस्सा, फिर किसी को ना दिया ,

इश्क़ तेरे बिना भी, मैनें इश्क़ सिर्फ तुझसे ही किया !!!

अपनी शामों में हिस्सा

आप अपने होंठो मे रखती

सारी शहर ढूंढती है जिसे डिब्बे मे ।

वो मीठा तो आप अपने होंठो मे रखती हो …

आप अपने होंठो मे रखती

आज मेरे दिल की जिद है

उन्हें छूना मौत ए जुर्म है , तो मेरी मौत का इंतजाम करो ।

आज मेरे दिल की जिद है, की उन्हे सीने से लगाना है … !!

आज मेरे दिल की जिद है

खुदा ने तुम्हे मुझसे दूर कर दिया

लाकर मेरे करीब , खुदा ने तुम्हे मुझसे दूर कर दिया ।

तकदीर ने भी मेरे साथ एक नई चाल चल दिया ।।।

खुदा ने तुम्हे मुझसे दूर कर दिया

painful love

Leave a Comment