By | 21st August 2017

Maa की ममता


एक बच्चे ने कब्रस्थान जाके अपना
बस्ता माँ की कब्र पर फेंका,
और भरे हुऐ गले
आंखों मे आंसू और शिकायती लेहजे में कहा,

तेरी नींद पूरी हो गयी हो तो चल ऊठ
और चल मेरे साथ ओर चलकर जवाब दे
मेरी टीचर को वो रोजाना मुझसे कहती है कि तेरी माँ बहुत लापरवाह है||

जो ना तुझे अच्छी तरह तैयार करके भेजती है
और ना तुझे अच्छी तरह होमवर्क कराती है
.
जिंदगी मे माँ का ना होना उसी तरह है
जिस तरह कडकती धूप मे पेड का ना होना||

227 Replies to “Maa की ममता”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *