KASH WO SIRF MERI HOTI

KASH WO SIRF MERI HOTI

YE KHUDA WO MERI HOTI

ये खुदा, काश वो सिर्फ मेरी होती ,,

या फिर वो मुझे, मेरी ज़िन्दगी में मिली ही ना होती …

YE KHUDA WO MERI HOTI

USE BHI ISHQ HAI

खबर पक्की है “बॉस” … उसे भी इश्क है ,,

क्या ? सचमुच !

यश बॉस, मगर अफसोस आपसे नही … बल्कि किसी और से …

USE BHI ISHQ HAI

KISI OR KA DIL DEKHO

अरे अरे , रुको रुको …

अंदर कहाँ घुसे जा रहे हो ? जगह नहीं है …

जाओ किसी और का “दिल” देखो …

KISI OR KA DIL DEKHO

MUJHE PAYAR KARNA AATA

ये सब झूठ है, आपसे किसने कह दिया ,

कि मुझे प्यार करना अच्छी तरह आता …

बल्कि सच तो यह है कि

मुझे प्यार के अलावा सब कुछ आता …।

MUJHE PAYAR KARNA AATA

ZINDGI BHAR RAKHENGE EHASAN

ज़िन्दगी भर रखेंगे हम एहसान , उस शख्स का …

है कोई जो मुझे , मिला दे उस शख्स से …

ZINDGI BHAR RAKHENGE EHASAN

APSE ITANI GAHRI MOHABBAT

यकीं नहीं खुद पर मुझे कि ,,

मैं आपसे इतनी गहरी मोहब्बत करता हूँ ।

जरा सा क्या आपसे मिले , आपमें खोते चले गए ।

APSE ITANI GAHRI MOHABBAT

sad shayari

Leave a Comment