By | 1st August 2019

हम बैठे इंतजार कर रहे

जरा सी मोहब्बत कर ले, हम बैठे इंतजार कर रहे हैं ।

ये हसीन पल कही बीत न जाए ,

फिर तुम मोहब्बत बीन तरस न जाए ।

हम बैठे इंतजार कर रहे

Sabhi खंजर एक साथ मारे

हाथ पकड़ा , बात की , फिर झट से गले लगा लिया !!!

तीनो खंजर एक साथ मारे थे जालिम “मन” ने…

 Sabhi खंजर एक साथ मारे

मोहब्बत भी खत्म नहीं हो रही

दूरिया और भी बड़ गई हमारे बीच …

और कम्बखत मोहब्बत भी खत्म नहीं हो रही ..

मोहब्बत भी खत्म नहीं हो रही

ना पूछो मेरा हाल बार बार

ना पूछो मेरा हाल इस तरह बार बार ,,

अगर इतनी ही फिक्र है, तो खुद का ख्याल रखा करो।

 ना पूछो मेरा हाल बार बार

अपने गालों के किनारे

अपने गालों के किनारे, काजल का एक धब्बा लगा कर निकला करो ।

सुना है आजकल बहुतों की नजर तुम पर है ।

अपने गालों के किनारे

हद हो गई इंतजार की

हद हो गई इंतजार की , अब और इंतजार नहीं होती ।

मैनें उस गली में जाना छोड़ दिया ।

हद हो गई इंतजार की

17 Replies to “जरा सी मोहब्बत कर ले”

  1. Meredith Giandomenico

    Wow that was unusual. I just wrote an incredibly long comment but after I clicked submit my comment didn’t show up. Grrrr… well I’m not writing all that over again. Anyways, just wanted to say fantastic blog!

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *