बस इतना-सा ही बाकी रह गया

Bas itna sa hi baki rah gaya | Love Romantic Sad bewafa Shayari in Hindi

वो सामने तो होते हैं

बस इतना-सा ही बाकी रह गया हैं,,ताल्लुकात उनसे…

वो सामने तो होते हैं मगर, होती नहीं बाते उनसे…

वो सामने तो होते हैं

तेरे बिन अधूरे है हम

नहीं मालुम मुझको फर्क मोहब्बत और जरुरत में …

सिर्फ इतना मालुम है , कि तेरे बिन अधूरे है हम …

तेरे बिन अधूरे है हम

किस कदर आता है प्यार तुझपे

मत पूछ किस कदर आता है प्यार तुझपे …

मन करता है होठो पर होंठ रखकर , पी जाऊँ सांस तेरी …

किस कदर आता है प्यार तुझपे

उसकी सूरत पर नज़र

उसकी सूरत पर नज़र जाती भी तो कैसे ,

मै कम्बख्त उनके झुमके पर ही दिल हार बैठा था …

उसकी सूरत पर नज़र

तुमसे मिलने की चाहत

तुमसे मिलने की चाहत कुछ एसा ।

मुसाफिर बूँद बूँद पानी के लिये तरसे जैसा ।

तुमसे मिलने की चाहत

इश्क़ का कोई वास्ता नहीँ होता

“इश्क़ का
डर से कोई वास्ता नहीँ होता…

ये उधर भी रख देता है क़दम अपने,
जिधर कोई रास्ता भी नहीँ होता …

 इश्क़ का कोई वास्ता नहीँ होता

3 Thoughts to “बस इतना-सा ही बाकी रह गया”

  1. Great resource Outlook Tips and Tricks for Better
    Email Management You dispatch a noteworthy venture at work, total an unpredictable
    undertaking on due date, or discover an answer for a continuous issue, https://365setup.com/

  2. I have been browsing online more than 4 hours today, yet
    I never found any interesting article like yours. It’s pretty
    worth enough for me. In my opinion, if all site owners and bloggers
    made good content as you did, the web will be much more useful than ever
    before. https://www.sbnation.com/users/fannycube

  3. Aw, this was an extremely nice post. Taking the time and actual effort to make a top notch article… but what can I say… I put things off a lot and never seem
    to get anything done. https://www.informationweek.com/profile.asp?piddl_userid=352837

Leave a Comment