हे राधा पुकार लो हमारा नाम

हे राधा पुकार लो हमारा नाम

कोई आवाज नहीं की

हे राधा पुकार लो नाम हमारा.. _कब से हम तुम्हारे है.. कोई आवाज नहीं की.. चुपके से तुमपे दिल हारे है….!!!

कोई आवाज नहीं की

हे राधा बहुत ढूंढा है तुम्हें

हे राधा बहुत ढूंढा है तुम्हें ख़्वाबों ख़्यालों में. पर जानते हो तुम कहां मिले जिन्दगी के हर लम्हें में ….

हे राधा बहुत ढूंढा है तुम्हें

सारी दुनिया का हिसाब

वो न कागज रखता है न किताब रखता हैं फिर भी वह सारी दुनिया का हिसाब रखता है …

सारी दुनिया का हिसाब

सभी को भगवान याद आने लगे

सभी खोए थे अपनी अपनी जिन्दगी सवारने में , आज धरती क्या हिलि, सभी को भगवान याद आने लगे !!!

सभी को भगवान याद आने लगे

जय श्री कृष्णा

छोटी उंगली पर पूरा गोवर्धन पर्वत उठाने वाले श्रीकृष्ण बाँसुरी दोनों हाथों से पकड़ते हैं, बस इतना ही अंतर है… पराक्रम और प्रेम में..!! जय श्री कृष्णा …

जय श्री कृष्णा

Leave a Comment