By | 30th April 2019

पिघल जाता तस्वीर देख कर

पिघल सा जाता हूँ , तेरी तस्वीर देख कर , जरा छू कर बता ना , कहीं मैं मोम का तो नहीं ।

पिघल जाता तस्वीर देख कर

बहुत देर तक कोई बात ना हो

सामने वाले की तरफ से अगर बहुत देर तक कोई बात ना हो तो , दस्तक दे कर पूछ लिजिए , क्या वो जिन्दा हैं अगर वो जिन्दा हैं तो यकीनन आप वहाँ मर चुके हैं…

बहुत देर तक कोई बात ना हो

यहाँ सिर्फ मैं और तुम

ए मेरे दिल , कभी तीसरे की उम्मीद भी ना किया कर , यहाँ सिर्फ मैं और तुम हैं , मैं रोता हूँ और तुम तड़पते हो।

यहाँ सिर्फ मैं और तुम

एक प्यारा सा दिल जो टूट गया

सुनो दिल…!! ज़रा गौर से सुनना मैंने मोहब्बत छोड़ दी हैं , अब तेरी मर्ज़ी तू भी धड़कना छोड़ सकता हैं…
मेरी मन

 एक प्यारा सा दिल जो टूट गया


बेमिसाल सज़ा है किसी बेगुनाह के लिए

मोहब्बत की मिसाल में बस इतना ही कहूँगा , “ये मेरी मन” ….. कि यह बेमिसाल सज़ा है , किसी बेगुनाह के लिए…

बेमिसाल सज़ा है किसी बेगुनाह के लिए

बस ज़रा सी तकलीफ है

खास कुछ नहीं बस ज़रा सी तकलीफ है , मैं उसे हद से ज्यादा चाहता हूँ , और वो किसी और को…

बस ज़रा सी तकलीफ है

5 Replies to “पिघल जाता हूँ तेरी तस्वीर देख कर”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *