तुम होशियार हो अच्छी बात

तुम होशियार हो अच्छी बात

मुझे मूर्ख ना समझना

तुम होशियार हो अच्छी बात है … पर मुझे मूर्ख ना समझना ,… ये उससे भी अच्छी बात है

मुझे मूर्ख ना समझना

हम तो ध्यान भी ना देंगे

प्यार करोगे तो जान दे देंगे , नफरत करोगे ,, तो करते रहो , हम तो ध्यान भी ना देंगे …

हम तो ध्यान भी ना देंगे

बहुत याद आ रही

बहुत याद आ रही है तुम्हारी ,, जी करता है कि तुम जहाँ भी हो … वही से अगवा कर लूं !!!

बहुत याद आ रही

शुक्रगुजार हूँ उन लोगो का

“शुक्रगुजार हूँ उन तमाम लोगो का, जिन्होने बुरे वक्त मे मेरा साथ छोङ दिया … क्योकि उन्हें भरोसा था , कि “मैं मुसीबतों से अकेले ही निपट सकता हूँ”।

 शुक्रगुजार हूँ उन लोगो का

बेटा बहू तेरी पसंद की

सुन पगली अपने घर वालों को बोल दे तेरी Security बढ़ा दे … क्यूंकि मेरे Papa ने permission दे दी है ,, की बेटा बहू तेरी पसंद की ही आएगी !!

बेटा बहू तेरी पसंद की

मेरा पुराना यार आया है

औकात कि बात मत कर PAGLI … जिस गली मेँ कदम रखते है ,, वहाँ के DOST कहते हे GOLD FLAK लाओ मेरा पुराना यार आया है..

मेरा पुराना यार आया है

Leave a Comment