तुम्हें मिल जाएगा बेहतर मुझसे

तुम्हें मिल जाएगा बेहतर मुझसे

मगर दिल कहता है

तुम्हें मिल जाएगा बेहतर मुझसे , मुझे मिल जाएगी बेहतर तुझसे — मगर दिल कहता है कि अगर हम दोनों मिल जाएगे तो होगा “सबसे बेहतर” ।

मगर दिल कहता है

बहुत रोई होगी वह

बहुत रोई होगी वह खाली कागज देख कर , खत में पूछी थी कि जिन्दगी कैसी बीत रही हैं।

बहुत रोई होगी वह

तेरी सादगी में झुक गए

तेरी सादगी में झुक क्या गए , तुने तो कमजोर ही समझ लिया —-❤

तेरी सादगी में झुक क्या गए

बेशुमार दौलत हैं तेरी यादों का

मेरे पास बेशुमार दौलत हैं , तेरी यादों का —- अगर इसे बेचु तो हमारी भी गिनती सबसे अमीरों में होगी।

बेशुमार दौलत हैं , तेरी यादों का

तुम्हारे दिल के करीब

तुम्हारे दिल के करीब होने का एहसास ही काफी है , कसम से तुझे सिने से लगाने का कभी ख्वाब भी नहीं देखा हमने।।।

तुम्हारे दिल के करीब

टुट कर चाहने वाला खुद ही टूट गया

सब कुछ बढिया चल रहा था , फिर कुछ यू हुआ कि किसी को टुट कर चाहने वाला खुद ही टूट गया ।

टुट कर चाहने वाला खुद ही टूट गया

Leave a Comment