By | 29th July 2019

तेरी बातें तेरी यादें

वो तुम्हारे साथ बिता हूआ हर पल हसीं होता है ,,

जब तेरी बातें, तेरी यादें, और तेरी माहौल होता हैं ।।।

 तेरी बातें तेरी यादें

तुम खुल कर मुस्कुराते हो

तुम्हारी होठ, महके हुए गुलाबों का बगिया लगता है ,,
तुम खुल कर मुस्कुराते हो, तो बहुत अच्छा लगता है !

तुम खुल कर मुस्कुराते हो

ये सीली-सीली अगस्त की हवा

ये सीली-सीली अगस्त की हवा , ठंडी-ठंडी आ रही ,,

लगता ये हवाएँ, मेरे महबूब की गलियों से हो के आ रही …

ये सीली-सीली अगस्त की हवा

तुम्हारे होंठ के नीचे

तुम्हारे होंठ के नीचे वो छोटी तिल तक याद है मुझे …

सोंचों मैंने तुम्हे कितनी शिद्दत से चूमा था …

तुम्हारे होंठ के नीचे

देखो मेरे दिल के अंदर

“मन” तुम उतर कर देखो मेरे दिल के अंदर ,,

मिलेगा तुम्हें , यहाँ आंसूओ से भरा हुआ समंदर…

देखो मेरे दिल के अंदर

सिर्फ तुम्हारा नाम लिख दिया

क्या लिखूं , मुझे कुछ सूझ नहीं रहा था ,,

सारा पन्ना मैंनें सिर्फ तुम्हारा नाम लिख दिया।

सिर्फ तुम्हारा नाम लिख दिया

One Reply to “तुम्हारे साथ बिता हूआ हर पल”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *