कई दिनो से उन्हें देखा नहीं

कई दिनो से उन्हें देखा नहीं

सब यूँ ही बीत गई

कई दिनो से उन्हें देखा नहीं , और न ही कोई बातचीत हुई । मौसम उदास, दिन उदास,, सब यूँ ही बीत गई ।।।

सब यूँ ही बीत गई

काश कोई ऐसा ख्वाब

सुना है, तुम्हें ख्वाब देखने का बहुत शौक है…!!

काश कोई ऐसा ख्वाब देखो ना, जिसमें हम दोनों एक साथ हो…!!

काश कोई ऐसा ख्वाब

इन नाजुक होंठों का

जरा सा शुक्रिया तो करने दो इन नाजुक होंठों का…,

सुना हैं, बहुत तारीफ करते हैं हमेशा मेरे बारे में……!!

इन नाजुक होंठों का

तेरा नाम सुन सुन कर

पता नही क्या हुआ है आजकल मुझे ,,

मुस्कानें लगे है,, तेरा नाम सुन सुन कर,,

तेरा नाम सुन सुन कर

एक दूसरे को गले लगा लिया

कई दफा लड़ाईयाँ हुई हैं, हम दोनों के बीच , मगर __

मिलने पर हम दोनों ने एक दूसरे को गले लगा लिया __

 एक दूसरे को गले लगा लिया

सूरज और चाँद दिन रात

जमाना मुझे आवारा कह कर पुकारता रहता ,,

जबकी सूरज और चाँद दिन रात भटकता रहता ।।

सूरज और चाँद दिन रात

Leave a Comment