एक सच्चे और ईमानदार नेता की बाते

एक सच्चे और ईमानदार नेता की बाते

एक सच्चे और ईमानदार नेता की बाते …

मैं मंच पर खड़े होकर सामने बहुत बड़ी भीड़ से चीख चीख कर कह रहा था ,

की अगर इस बार हमारी सरकार बनेगी तो हरेक शख्श के जिंदगी में उनके हिस्से

की सुकून मिलेगी … जिसमे आमदनी कम , मगर खुशिया ज्यदा होगी … किसी चीज़

के उत्पादन में मशीने कम , हाथे ज्यदा होगी … नए नए खोजे कम , बस पुरानी

कलाए ताज़ा होगी … जुआरी , शराबखाने , आद्धेबजी ये सब बंद ,, बस चारो तरफ

स्कूल , कालेज व पुस्तकालय होगी … सभी परमाणु हथियार , मिसाइल व बंदूके रद्द ,,

सिर्फ हर तरफ कुश्ती , पहलवानी व लाठी डंडे की बोलबाला होगी … भिन्य भिन्य धर्मो को मानना ये सब बंद ,

बस चारो तरफ एक हि धर्म की हमारी पाठशाला होगी …

लोगो को खुशिया के लिए त्योहारों का इन्तेजार नहीं , बल्कि हर दिन उनके जिंदगी में खुशियों

से भरी त्यौहार होगी … महिलाओ की सुरक्षा के साथ साथ , पुरषों के हि मानसिकताओं में

बदलाव जयादा होगी … किसान परिवार को दूसरा और कोई रोज़गार नहीं , उनके खेती के

तकनीकों में हि सुधार होगी … बनावटी बाग बगीचे कम , प्राकृतिक जंगलो की हि

बौछार होगी … कृत्रिम वस्तुओ का उपयोग कम , हर तरफ प्राकृतिक तौर से निर्मित

वस्तुओ की हि बाजार होगी … कोई गरीब , गरीब नहीं और कोई अमीर , अमीर नहीं ,,

सभी एक हि साँचे में ढालें इंसान होंगे … भष्टाचारी , गुंडागर्दी , बलात्कार , कालाबाजारी

आदि ये सब बंद ,, एसी सोच रखने वालो के लिए उनके मानसिकता में बदलाव लाने की

जिम्मेदारी हमारी होगी … सभी बेरोजगारों को रोज़गार मिलेगा , हर एक दूसरे की मदद करने

का ,, हां मैं मानता हू की इसमें आमदनी कम होगी , मगर खुशिया कहीं जयादा होगी …

ऐसी दुनिया बनाने के लिए आप सबो को भी सरकार की मदद करनी होगी , बस इस देश की

आबादी सिमित रखनी होगी … नहीं तो आप सब तो जानते हि है , वर्ना ये सारी खुशिया

एक बहुत बड़ी बिस्फोट में तब्दील हो जाएगी …

‘’ हमारी सोच और आपके विचार से हि , खुल जाएगा इस देश के स्वर्ग का द्वार ‘’

जय हिंद …

तब तक माँ ने एक लोटा पानी मुझ पर उधेड़ते हुए चिल्लाकर बोली ,, उठ रे नालायक ,

जा जाकर बहार देख कितना सूरज चढ़ गया है ….

Leave a Comment