उसकी मीठी यादें मुझे आती है

छुपकर उसे अपने खिड़कीयो से देख रहा था

उसकी मीठी यादें मुझे आती है

उसकी मीठी मीठी यादें ,

धीमी धीमी से मुझे आती है …

चेहरे पर एक चमक देकर ,

दूर कही वह चली जाती है ….

फिर से उसकी यादो को तलाशता हू ,

फिर से वह मुझे मिल जाती है …

अगली बार से उसकी यादे मुझसे दूर न जा ,

इसलिए रब से मन्नत मांगता हू ….

जब उसकी यादो में खोया रहता हू ,

ऐसा लगता मनो जन्नत कि सैर करता हू ….

नील गगन में उड़ता रहता ,

हरदम उसकी यादो के संग ….

मुझे बड़ा अच्छा लगता देखकर ,

उसके मासूम चेहरे बनाने का ढंग ….

उसकी मीठी मीठी सी यादें ,

जब भी कभी आती है ….

मेरे उदास चेहरे पर भी ,

एक प्यारी सी मुस्कान दे जाती है ….

 

 

 

 

 

3 Thoughts to “उसकी मीठी यादें मुझे आती है”

  1. […] मैं तेरी बातें करती गई और तुम हर बात में मुझे भुलाते गए, […]

  2. […] मैं तेरी बातें करती गईऔर तुम हर बात में मुझे भुलाते गए, […]

Leave a Comment