Category: अद्भुत सच !

Poverty Crush In Indian Politics

Poverty crush in Indian politics   एक खाली पेट लिये भटक रहा था , शहर की सड़को पर । अनेक लोगों ने मुस्कुराते हुए मेरे फटे मैले कपड़े देखे, लम्बी ढ़ाड़ी व उलझे लंबे बाल देखे। मेरे बिरादरी के ही कुछ लोगों…Read More »

आज हमारी पृथ्वी की हकीकत

आज हमारी पृथ्वी की हकीकत ” हमारी पृथ्वी ” यह नाम हम इंसानों ने ही दिया है। वैसे तो इसका ना सिर्फ ” पृथ्वी ” हैं । जो कुशल , सहनशील , मजबूत , पालनकर्ता हैं। मगर अब यह दिनों दिन एक…Read More »

दुनिया की सच्चाई

दुनिया की सच्चाई था मैं नींद में और मुझे इतना सजाया जा रहा था…. बड़े प्यार से मुझे नहलाया जा रहा था…. ना जाने था वो कौन सा अजब खेल मेरे घर में…. बच्चो की तरह मुझे कंधे पर उठाया जा रहा…Read More »

सच्चाई दुनिया की

सच्चाई दुनिया की ना दिवाली होती, और ना पठाखे बजते ना ईद की अलामत, ना बकरे शहीद होते तू भी इन्सान होता, मैं भी इन्सान होता, …….काश कोई धर्म ना होता…. …….काश कोई मजहब ना होता…. ना अर्ध देते, ना स्नान होता…Read More »

अन्जान सफर

अन्जान सफर था मैं नींद में और मुझे इतना सजाया जा रहा था…. बड़े प्यार से मुझे नहलाया जा रहा था…. ना जाने था वो कौन सा अजब खेल मेरे घर में…. बच्चो की तरह मुझे कंधे पर उठाया जा रहा था….…Read More »

हमारी सोच

चूहा अगर पत्थर का हो तो सब उसे पूजते हैं मगर जिन्दा हो तो मारे बिना चैन नहीं लेते हैं.. साँप अगर पत्थर का हो तो सब उसे पूजते हैं मगर जिन्दा हो तो उसी वक़्त मार देते हैं.. माता अगर पत्थर…Read More »

Mahatma Gandhi vs Nathu Ram ghodse

Mahatma Gandhi vs Nathu Ram ghodse Supreme Court से अनुमति मिलने पर प्रकाशित की गयी है…. 60 साल तक भारत में प्रतिबंधित रहा नाथूराम का अंतिम भाषण – “मैंने गांधी को क्यों मारा” 30 जनवरी 1948 को नाथूराम गोड़से ने महात्मा गांधी…Read More »

Most Read दिल से पढ़िये

Most Read दिल से पढ़िये जिस पल आपकी मृत्यु हो जाती है, उसी पल से आपकी पहचान एक बॉडी बन जाती है। अरे “बॉडी” लेकर आइये, “बॉडी” को उठाइये, “बॉडी” को सुलाइये ऐसे शब्दो से आपको पुकारा जाता है, वे लोग भी…Read More »

भारतीय किसान

घर में पानी टपक रहा था, बीबी-बच्चों के सोने के लिए जगह नहीं था —- फिर भी भगवान से यही दुआ करता हैं- हे भगवान आज रात तेज बारिश हो । भारतीय किसान

True Best story Line

True Best story Line एक मिट्टी की मूर्तियां बनाने वाला (कुम्हार) ईश्वर से कहता है….._ _”हे प्रभु तू भी एक कलाकार है और मैं भी एक कलाकार हूँ,_ _तूने मुझ जैसे असंख्य पुतले बनाकर इस धरती पर भेजे हैं,_ _और मैंने तेरे…Read More »