By | March 22, 2019
Spread the love

दूसरों से हस कर बातें करती

मैं उससे बातें करने के लिए तडपता हूँ ,,

और वो दूसरों से हस हस कर बातें करती हैं।

दूसरों से हस हस कर बातें करती

हमारी तरह चाहने वाला

मोहब्बत का क्या है वो तो तुम किसी से भी कर लोगे..

पर हमारी तरह चाहने वाला ,, कहाँ से पाओगी,,,

हमारी तरह चाहने वाला

यादो का शहर

इस जगमगाते हुए शहर से हटकर भी है एक अपना शहर है ,,

यादो का शहर , जहा सिर्फ तेरी हि यादे मिलती है …

और खरीदार सिर्फ मैं होता हू … दूसरा कोई नहीं …

यादो का शहर

अपना हुनर आजमा के दिखा

चल अब तू अपना हुनर आजमा के दिखा ,,,

निकाल दिया तुझे दिल से , अब जगह बना के दिखा …

अपना हुनर आजमा के दिखा

आशिक़ो का इस दुनिया में

हुस्न अगर बेवफ़ा ना होता तो आशिक़ो का इस दुनिया में नाम न होता , काट दिए हाथ उन मजदूरों के , वरना आज हर एक रस्ते पर ताजमहल होता !!!

आशिक़ो का इस दुनिया में

जुड़ने की ख्वाहिश लिए

कोई तो होगा.….. टूटा हुआ मेरी तरह ही ,

जो जुड़ने की ख्वाहिश लिए जी रहा होगा !!!

जुड़ने की ख्वाहिश लिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *