By | March 12, 2019
Spread the love

तेरी एक झलक

​​ तेरी एक झलक पाने को तरस जाता है दिल  मेरा … 

खुश किस्मत  हैं वो लोग , जो तुझे हर रोज देखते है …

तेरी एक झलक

सुबह शाम एक एक बार

सुबह शाम एक एक बार दिख जाया करों मेरी मोहब्बत —-  

डाक्टर ने कहा है दवा वक्त पर लेते रहना ।।

सुबह शाम एक एक बार

हर जनम तू ही मिले मुझे

ना  चाँद की चाहत है , ना तारों की फरमाइश है ,,

हर जनम तू ही मिले मुझे , यही मेरी  ख्वाहिश है  ।

हर जनम तू ही मिले मुझे

कितना हसीन इलज़ाम

उसने इलज़ाम भी लगाया, तो कितना हसीन लगाया …

बोली सर… ये पुरी क्लास में , बस मुझे ही देखता रहता है ।

कितना हसीन इलज़ाम

तुझे देखने के बाद

तेरे हुस्न को पर्दे की जरूरत नहीं है…

कमबख्त कौन होश में रहता है …

तुझे देखने के बाद  ।।

तुझे देखने के बाद

इश्क बहुत तेज है

सुबह शाम आधा आधा चम्मच बताया है हकीम ने ,

गरम पानी के साथ ,, कहता है तुझे इश्क बहुत तेज है ।।

 इश्क बहुत तेज है
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *