Tag: dardnak shayari

KASH WO SIRF MERI HOTI

YE KHUDA WO MERI HOTI ये खुदा, काश वो सिर्फ मेरी होती ,, या फिर वो मुझे, मेरी ज़िन्दगी में मिली ही ना होती … USE BHI ISHQ HAI खबर पक्की है “बॉस” … उसे भी इश्क है ,, क्या ? सचमुच…Read More »

Chupa kar nazare kaha ja rahi

Chupa kar nazare छुपा कर नजरे कहाँ जा रही ,, तुम्हे देखने के लिए सारी गली तरस रही …। Apne ap me ek mahfil hu मुझे अकेला समझने की भूल कतई न करना ,, मैं अपने आप में एक हँसता हुआ महफिल…Read More »

बड़ी अजीब सी मोहब्बत थी तुम्हारी

अजीब सी मोहब्बत थी बड़ी अजीब सी  मोहब्बत थी  तुम्हारी.. पहले पागल किया.. फिर  पागल कहा.. फिर  पागल समज कर  छोड़ दिया.. उस पगली को क्या पता उस पगली को क्या पता जिस मंदिर में वो मेरी मौत की दुआ करती है,…Read More »

माफ़ करना आज जरा देर से आया हूँ

आज जरा देर से आया माफ़ करना आज जरा देर से आया हूँ , इस मुसेरा शायरी में , आज कलम से नही दिल से लिखूंगा मैं ।। हद से ज्यादा प्यार बेपरवाह हो जाते है वो लोग अक्सर . . जिन्हे…Read More »

मैंने लिखा है चान्द पर अपना नाम

लिखा है, चान्द पर अपना नाम मैंने लिखा है, चान्द पर अपना नाम और वो मेरा हो गया….. बस इतनी सी बात थी , पता नहीं  सारा जहाँ क्यू ख़फा हो गया …।।। उनकी हाँ के इंतज़ार में रात के अंधेरो में…Read More »

नादान दिल तू समझता क्यों नहीं है

मोहब्बत पर इतना गुमान है नादान दिल तू समझता क्यों नहीं है । अगर तुम्हें मोहब्बत पर इतना ही गुमान है , तो कहता क्यों  नहीं । आखिर कब तक अकेले दर्द सहते रहोगो , अगर तुम्हारी तरह उसका भी दिल है…Read More »

तेरे रोज रोज के वादों पे मर जायेंगे हम

तेरे रोज रोज के वादों पे तेरे रोज रोज के वादों पे मर जायेंगे हम, . यूँ ही चलती रही तो गुजर जायेंगे हम। बहुत ज़ालिम हो तुम मोहब्बत बहुत ज़ालिम हो तुम भी , भला मोहब्बत कोई ऐसे करता हैं ,…Read More »

दिल में बहुत दर्द हो रहा है

तुमसे मिलते रहने की सलाह दिया दिल में बहुत दर्द हो रहा है। डाक्टर ने तुम्हारी कमी बताई है। और समय समय पर तुमसे मिलते रहने की सलाह दिया है। हमसफर तो मिलेगी मगर सच कहा था, एक ज्योतिषी ने मुझे। तुझे…Read More »

मैंने भी किसी से प्यार किया था

किसी से प्यार किया था मैंने भी किसी से प्यार किया था , मेरी सारी खुशियाँ हरवक्त उसके चारों ओर घूमती थी , पर उनके लिए मैं कुछ भी नहीं था। तेरा ही ज़िक्र करूँगा किताब जब भी लिखूँगा अपनी बर्बाद ज़िंदगी…Read More »