Category: Yaad Shayari

क्या लिखूँ तेरी सूरत की तारीफ़ में

तेरी अदाएँ देख देख कर क्या लिखूँ तेरी सूरत की तारीफ़ में ए मेरे ”मन” ,सारे अल्फाज खत्म हो गए मेरे , तेरी अदाएँ देख देख कर … ईद का सारा जिम्मा ईद का सारा जिम्मा, अब चाँद पर आ ठहरा है…Read More »

मना कर दिया उन्हें

दिल कुचलकर तोड़ दिया मना कर दिया उन्हें, न आओं मेरे ख्वाबों में , इश्क़ हमने छोड़ दिया और अपना दिल कुचलकर तोड़ दिया । एक चांद था अकेला था मैं, किसे आवाज देता ,, एक चांद था, वो भी दूर खड़ा…Read More »

इश्क़ एक खूबसूरत एहसास है

इस एहसास को समेटना चाहता इश्क़ एक खूबसूरत एहसास है “मन” , और मैं इस एहसास को समेटना चाहता हूँ। ऐ “मन” तू क्यों रोता ऐ “मन” तू क्यों रोता है … ये दुनिया है , यहाँ तो हरपल ऐसा ही होता…Read More »

बस इतना-सा ही बाकी रह गया

वो सामने तो होते हैं बस इतना-सा ही बाकी रह गया हैं,,ताल्लुकात उनसे… वो सामने तो होते हैं मगर, होती नहीं बाते उनसे… तेरे बिन अधूरे है हम नहीं मालुम मुझको फर्क मोहब्बत और जरुरत में … सिर्फ इतना मालुम है ,…Read More »

मीठा-मीठा सा था इश्क़ हमारा

आपके ख्वाब व आपकी मुस्कान मीठा-मीठा सा था इश्क़ हमारा और.. बीच-बीच में आपके ख्वाब व आपकी मुस्कान आती रही …!!! तुम्हारे होठों की लिपीस्टीक मैं तुम्हारे होठों की लिपीस्टीक खराब कर सकता हूँ । पर यकिन करो, तुम्हारे आखों का काजल…Read More »

चुपचाप गुज़ार देगें तेरे बिना ये ज़िन्दगी

तेरे बिना भी ये ज़िन्दगी चुपचाप गुज़ार देगें तेरे बिना भी ये ज़िन्दगी , लोगो को बता देगें , मोहब्बत ऐसे भी होती है ।।।। फिज़ाओ में घोल दी इतनी मोहब्बत तुम ही बताओ हम किधर जाए— इन फिज़ाओ में घोल दी…Read More »

मोहोब्बत बिखेर दूँगा अपने लफ़्ज़ों से

इतनी मोहोब्बत कोई कैसे कर सकता “इतनी मोहोब्बत बिखेर दूँगा अपने लफ़्ज़ों से , की एक ना एक दिन तू भी कहेगी , की इतनी मोहोब्बत कोई कैसे कर सकता है.”। तेरा नाम लेकर शहर में तेरा नाम लेकर शहर में ढुंढता…Read More »

कुछ भी खास नहीं होता इन दिनों

वो पास नही है इन दिनों अब कुछ भी खास नहीं होता इन दिनों ..!! वो जो पास नही है इन दिनों….! आँसू बहाऊँ,पाँव पटकूँ कितना अच्छा होता , बचपन के खिलौने सा कहीं छुपा लूँ तुम्हे , आँसू बहाऊँ,पाँव पटकूँ और…Read More »

नहीं खोना चाहता हूँ आपको

लैाट अओ किसी बहाने नहीं खोना चाहता हूँ आपको .. इसलिये पाने की कोई ज़िद भी नहीं… हो सके तो लैाट अओ किसी बहाने से। फिर से मिलने का वादा फिर से मिलने का वादा तो उनके मुँह से निकल ही गया…Read More »

मोहब्बत करने से फुरसत नहीं मिली

हम नफरत करके बताते मोहब्बत करने से फुरसत नहीं मिली ,, वरना हम नफरत करके बताते , नफरत किसको कहते_है !!! हर याद में कितना दर्द होता जब आपकी याद आती है तो लगता है , हर पत्थर पर लिखू “I MISS…Read More »