Category: हमारी अधूरी कहानी

अगर तुम पूछो अपनी अहमियत

तुम्हें अपने पास रख लूं अगर तुम पूछो अपनी अहमियत मुझसे , तो सुनो मन ,, सिर्फ तुम्हें अपने पास रख लूं , तो मैं सबसे अमीर हो जाऊँ ।। अचानक चौँक उठे “नींद’ से हम अचानक चौँक उठे “नींद’ से हम……Read More »

बस इतना-सा ही बाकी रह गया

वो सामने तो होते हैं बस इतना-सा ही बाकी रह गया हैं,,ताल्लुकात उनसे… वो सामने तो होते हैं मगर, होती नहीं बाते उनसे… तेरे बिन अधूरे है हम नहीं मालुम मुझको फर्क मोहब्बत और जरुरत में … सिर्फ इतना मालुम है ,…Read More »

उसके हाथों पर अपना नाम देखा

बड़े मासूमियत से बोली उसके हाथों पर अपना नाम देखा तो बड़ा खुश हुआ , फिर वो बड़े मासूमियत से बोली इस नाम का कोई और भी हैं। मोहब्बत मैं करता हूं तुमसे तुम्हारे सभी चाहने वाले मिलकर भी उतना नहीं चाह…Read More »

कितना खुशनुमा होगा वो इँतज़ार

मेरे इँतज़ार का मंजर कितना खुशनुमा होगा वो मेरे इँतज़ार का मंजर भी…, . जब ठुकराने वाले मुझे फिर से पाने के लिये आँसु बहायेंगे…!!! तुम्हारे दिल में कोई होगा तुम्हारी आँखों में कोई होगा.. तुम्हारी बातों में कोई होगा। तुम्हारे दिल…Read More »

अगर वह मेरी यादों से पूछे

सबसे ज्यादा किसे याद किया अगर वह मेरी यादों से पूछे , कि तूने सबसे ज्यादा किसे याद किया है , तब सिर्फ एक ही जवाब रहेगा – तुम्हें सभी लोगों को एक दिल दिया भगवान ने सभी लोगों को एक दिल…Read More »

बदल गया वक़्त बदल गयी बातें

बदल गयी मोहब्बत बदल गया वक़्त, बदल गयी बातें… बदल गयी मोहब्बत , कुछ नहीं बदला तो वो है, इन आँखों की नमी और तेरी कमी…।। ज़िंदगी से बोल-चाल बंद जवाब उसका बंद है… मेरा सवाल बंद है… कई दिनों से…अपनी ज़िंदगी…Read More »

दिल में बहुत दर्द हो रहा है

तुमसे मिलते रहने की सलाह दिया दिल में बहुत दर्द हो रहा है। डाक्टर ने तुम्हारी कमी बताई है। और समय समय पर तुमसे मिलते रहने की सलाह दिया है। हमसफर तो मिलेगी मगर सच कहा था, एक ज्योतिषी ने मुझे। तुझे…Read More »

कोई उन्हें देखने को तरसता रहा

कोई उन्हें देखने को कोई छुपता रहा, और कोई उन्हें देखने को तरसता रहा । ये इश्क नहीं तो और क्या है। मेरी बात भी नहीं सुनती वो सब की बकवासे सुनती थी । मगर मेरी बात भी नहीं सुनती थी ।…Read More »

कहां-कहां से इकट्ठा करु मुहब्बत तुम्हें

जहाँ देखूँ वहाँ तेरे ही टुकड़े कहां-कहां से इकट्ठा करु , ये मुहब्बत तुम्हें । जहाँ देखूँ वहाँ तेरे ही टुकड़े बिखरे पडे़ हैं , हर तरफ । मेरी आँखे मेरी आँखे खरीदोगे ??? सूखे मौसमों में यह बहुत राहत देगी। कसम…Read More »

तेरे रोज रोज के वादों पे मर जायेंगे हम

तेरे रोज रोज के वादों पे तेरे रोज रोज के वादों पे मर जायेंगे हम, . यूँ ही चलती रही तो गुजर जायेंगे हम। बहुत ज़ालिम हो तुम मोहब्बत बहुत ज़ालिम हो तुम भी , भला मोहब्बत कोई ऐसे करता हैं ,…Read More »