By | November 5, 2017
Spread the love

बाज़ार कोई धर्म नहीं देखती, चाहे दिवाली हो या फिर ईद , वह हर त्योहार में दुल्हन की तरह सज जाती है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *